इस यंत्र को धन त्रयोदशी के दिन सिंदूर, घी और चमेली के तेल से पूजा स्थान की दीवार पर बनाकर लक्ष्मी बीज मंत्र का जाप करने से नए कार्य की योजना से धन वृद्धि होती है। 
माता लक्ष्मी को इस संसार में भौतिक सुखों को प्रदान करने वाली देवी के रूप में पूजा जाता है। माता लक्ष्मी की पूजा और उन्हें प्रसन्न करने के लिए ही महालक्ष्मी यंत्र (Shree Mahalaxmi Yantra) की पूजा और स्थापना की जाती।  ॐ पहिनी पक्षनेत्री पक्षमना लक्ष्मी दाहिनी वाच्छा भूत-प्रेत सर्वशत्रु हारिणी दर्जन मोहिनी रिद्धि सिद्धि कुरु-कुरु-स्वाहा।

Order Now Online

Contact Form

Book your Order Online

Fill in the form below, and we'll get Call back to you within 30 mits. Delivery will take in 2-4 business days depending on the location.Kindly Pay Cash on Delivery.